बदहजमी को अपच के नाम से भी जाना जाता है। यह पेट के ऊपरी हिस्से में महसूस किया जाता है। जब हमारा भोजन या अन्य आहार अच्छे से नही पच पाता है तब अपच की समस्या उत्पन होती है। पाचन के दौरान पेट में गैस का बनना एक सामान्य प्रक्रिया है।

बदहजमी या अपच पूरे स्वास्थ्य को बिगाड़कर रख देती है। ऐसा माना जाता है कि पाचन तंत्र में खराबी होने के कारण अपच की समस्या होती है। पेट का एसिड जब पाचन तंत्र (म्यूकोसा) की संवेदनशील सुरक्षात्मक सतह के संपर्क में आता है, तो बदहज़मी हो सकती है। पेट में उत्पन्न अम्ल(एसिड) पाचन तंत्र की सुरक्षात्मक सतह को क्षतिग्रस्त देते हैं, जिससे जलन और सूजन होती है।

जरुरी नहीं की जो लोग बदहजमी से परेशान है, उनके पाचन तंत्र में सुजन पाया जाएं। धूम्रपान, शराब, गर्भधारण, तनाव, या कुछ दवाएं लेने से भी अपच की समस्या हो सकती है। सबसे पहले यह समझना जरुरी है कि आखिर बदहजमी क्या है?

बदहजमी क्या है? (What is indigestion?)

indigestion

मेडिकल भाषा में बदहजमी या ‘अपच’ को डिसपेपसिया या इंडायजेशन भी कहा जाता है। इस प्रकार अपच शरीर में होने वाली किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है। ऐसा माना जाता है कि बदहजमी खराब खान-पान की वजह से भी होता है। अपच होने पर पेट फूलना, फूलना, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द, पेट के ऊपरी हिस्से में जलन, जी मचलाना, डकार आना (Burp) आदि समस्याओं को महसूस किया जा सकता है।इसके साथ-साथ अपच कुछ दवाओं के सेवन करने के साइडिफेक्ट की वजह से भी  हो सकता है। अगर आप ज्यादा अपच को लेकर परेशान है तो आप अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करके भी और कुछ दवाओं का डाक्टर के परामर्श से लेकर ठीक कर सकते है।

कितने समय तक रहती है बदहजमी? (How long indigestion lasts for?)

How long indigestion lasts for

वैसे तो इसको लेकर कोई फिक्स समय सीमा नही है। क्योंकि यह होने वाली कारकों पर निर्भर करती है। जो आपको खान-पान स्वास्थ्य समस्या पर निर्भर है। जैसे अगर आप ज्यादा शराब या जंक फूड का सेवन करते है तो बदहजमी हो सकती है। अगर आपको को सीधे तौर पर समझना है तो जब आपके पेट का खाना अगर एक समय सीमा के अंदर पच जाए तो बदहजमी से राहत मिल सकती है। जो लोग मोटापें के शिकार है उनकी पाचन क्रिया धीमी होती है मतलब एक स्वस्थ्य इंसान का खान दो घंटे में पच जाता है तो,वही ऐसे व्यक्ति में यह कभी-कभी 3 घंटे या उससे ज्यादा भी लग जाता है।

बदहजमी होने के 10 मुख्य कारण (10 Causes of Indigestion)

1. ज्यादा स्ट्रेस लेना (Taking too Much Stress)

Taking too Much Stress

आमतौर पर लोग किसी न किसी बात को लेकर उसकी सोच में डूबे रहते है । जब आप किसी बात को लेकर गहरी सोच में डूब जाते है तो वह आपके शरीर को नुकसान पहुंचाती है। इसकी वजह से बदहजमी या अपच की भी समस्या होती है।

2. धूम्रपान करना (Smoking)

Smoking

आज के समय में धम्रपान आम हो गया है। युवायों में तो इसका क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है। युवा अपने जीवन में धूम्रपान को लाइफस्टाइल की तरह से अपना रहे हैं। अगर आप इसका सेवन ज्यादा कर रहे है तो इससे भी आपको पेट से संबंधित समस्या उत्तपन हो सकती है।

3. शराब का सेवन (Intake of Alcohol)

Intake of Alcohol

अगर आप शराब का सेवन भी आवश्यकता से ज्यादा कर रहे है तो आप बदहजमी या अपच जैसी बीमारी के शिकार हो सकते है।

4. भोजन के तुरंत बाद लेट जाना (Lying down immediately after a meal)

Lying down immediately after a meal

आमतौर पर लोगो के अंदर यह आदत होती है कि जैसे ही वह भोजन करते है उसके तुरंत बाद वह बेड पर आराम करने के बहाने लेट जाते है, जो आपके पेट के लिए नुकसानदायक होता है। क्योंकि खाना खाने के तुरंत बाद सो जाने से भोजन सही से पच नही पाता है, जो आपके बदहजमी या अपच जैसी समस्या को जन्म देती है।

5. जरूरत से ज्यादा खा लेना (Overeating)

Overeating

कभी-कभी हम खाने की चीजों को लेकर भी कुछ ज्यादा ही नजरअंदाज करने लगते है। जरुरत से ज्यादा भोजन का सेवन करना भी अपच की समस्या को जन्म देती है।

6. पेट में संक्रमण होने से (Stomach Infection)

Stomach Infection

पेट में किसी तरह का संक्रमण होने से भोजन का पाचन सही से हो नहीं पाता है और यही कारण बदहजमी का बनता है।

7. आयली चीजों का सेवन ज्यादा करना (Eating oily Things)

Eating oily Things

अगर आप उस भोजन का सेवन ज्यादा करते है जिसमे आयल,फैट की मात्रा ज्यादा हो तो आपके शरीर में बदहजमी या अपच की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए आप इस तरह की चीजों का ज्यादा सेवन करने से बचें।

8. लीवर का खराब होना (Liver Damage)

Liver Damage

लिवर शरीर का एक बेहद महत्वपूर्ण अंग होता है। यदि यह खराब हो जाए तो पूरे शरीर का सिस्टम प्रभावित कर देता है। लिवर के साथ हमारे शरीर के कई फंक्शन जुड़े होते हैं। जैसा कि यह शरीर के डाइजेशन और मेटाबॉलिज्म में मुख्य भूमिका निभाता है और साथ-साथ शुगर फैट और  कोलेस्ट्राल पर भी नियंत्रण रखता है, लिवर में हुई कोई खराबी अपच का कारण बन सकती है।

9. छोटी आंत में बैक्टीरिया का होना (Bacteria in the Small Intestine)

Bacteria in the Small Intestine

छोटी आंत में बैक्टीरिया की जीवाणु  को भी अपच का एक बड़ा कारण माना जाता है। हांलाकि शोध इस संबंध में अभी निर्णायक नहीं हैं, लेकिन क्योंकि जीवाणु संक्रमण या जीवाणु जीवाणु के लक्षण एक से ही होते हैं, कुछ मामलों में ये अपच के लिए जिम्मेदार हो सकता है। इसका हाइड्रोजन सांस परीक्षा द्वारा परिक्षण किया जाता है और एंटीबायोटिक दवाओं की मदद से इसका इलाज किया जा सकता है।

10. गर्भावस्था (Pregnancy)

Pregnancy

गर्भवती महिलाओं में अपच की समस्या विशेष रुप से पाई जाती है। इस समय पर महिलाओं में सीने में जलन और अपच होना सामान्य बात होती है। विशेष रूप से 27वें सप्ताह के बाद से इस समस्या का गर्भवती महिलाओं में होना आम बात हो जाती है| क्योंकि आपका बढ़ता हुआ शिशु आपके पेट को दबाता है। गर्भावस्था के दौरान हार्मोन का बदलता स्तर आपके पेट और आहार नली के बीच की मांसपेशियों के मुड़ने का कारण बन सकता है जिससे एसिड रिफ्लक्स हो सकता है।यदि आप बहुत असहज महसूस कर रही हैं या दर्द में हैं तो फार्मासिस्ट (pharmacist) या डॉक्टर से बात करें। वे आपको इलाज की सलाह देने में सक्षम हो सकते हैं। जो आपके गर्भवती होने पर इस्तेमाल हो सकता है।

अपच के यह 10 लक्षण अगर आपको भी है, तो हो जाईएं सावधान

symptoms of dyspepsia

  1. पसीना आना
  2. अम्लीय स्वाद
  3. परिश्रम के दौरान सीने में दर्द
  4. उल्टी
  5. भूख या वजन घटाने का नुकसान
  6. दर्द
  7. जी मिचलाना
  8. डकार
  9. अतिसार
  10. पेट में “गुड़गुड़”

बदहजमी से निजात के रामबाण देशी उपाय (Relief from Indigestion)

पेट की समस्या हमारे खानपान के कारण उत्पन होती है। जिसमे हमारी प्रतिदिन की दिनचर्या भी शामिल है। पेट से संबंधित समस्या होने पर कई तरह की परेशानियां होने लगती है। अगर पेट की समस्या लंबे समय तक बनी रहे तो शरीर में कई बीमारियां घर कर सकती हैं।

कब्ज का घरेलू इलाज (Home Treatment For Constipation) कर पेट की हर समस्या को दूर किया जा सकता है| कब्ज का इलाज (Treatment of Constipation) खानपान और जीवनशैली में बदलाव है।साथ कुछ घरेलू उपाय कब्ज से राहत दिला सकते हैं। इसलिए अगर आप अपने पेट की समस्या से निजात पाना चाहते है तो यह रामबाण देशी उपाय आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। इसलिए अगर आप अपने पेट की समस्या से निजात पाना चाहते है तो यह रामबाण देशी उपाय आपके लिए मददगार साबित हो सकता है।

1. हल्दी अपच का घरेलू उपाय (Homely Remedy- Turmeric)

Homely Remedy- Turmeric

हल्दी में एंटी इंफ्लेमेट्री गुण मौजूद होते है। जो इंफेक्शन को रोकने में मदद करते है। इसप्रकार अगर आप हल्दी और शहद को आपसे में मिलाकर रोजाना सेवन करते है, तो आप पेट की समस्या से निजात पा सकते है। इतना ही नही हल्दी  इम्युनिटी और खून बढ़ाने में भी मदद करती है।

2. केला अपच का घरेलू उपाय (Banana– Homely Remedy)

Banana– Homely Remedy

घरेलू उपायों में केला भी बहुत फायदेंमंद होता है। इसमें पेक्टिन नामक फाइबर पाया है। इसमें भारी मात्रा में  पोटैशियम भी मौजूद रहता है। इसमें पोटैशियम की भरपूर मात्रा होने की वजह से यह किडनी के लिए भी स्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थ बन जाता है। अगर आप अपनी डाइट में रोजाना केला का प्रयोग करते है तो आप पेट से जुड़ी समस्या से निजात पा सकते है।

3. अदरक अपच का घरेलू उपाय (Homely Remedy- Ginger)

Homely Remedy- Ginger

आपको शायद ही यह पता होगा की आपके घरों में मौजूद अदरक लाखों दुखों की दवा है। यह मनुष्य के दिमाग और शरीर के लिए लाभकारी होता है। क्योकिं इसमें पोषक तत्वों और बायोएक्टिव यौगिक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन आप फ्रेश, सूखा, पाउडर, ऑयल या जूस के रूप में कर सकते है। अदरक के नियमित इस्तेमाल से आपको जी मिचलाने की शिकायत नहीं होगी। अदरक के टुकडे में काली मिर्च, एक चुटकी हींग को पीसकर अच्छे से मिला लें। उसके बाद इसका सेवन करें, उसके तुरंत बाद ही 1 गिलास गुनगुना पानी पीएं. आपको कब्ज, गैस और बदहजमी से छुटकारा मिल सकता है।

4. सेब का सिरका अपच का घरेलू उपाय (Apple Cider Vingar- Digestion)

Apple Cider Vingar- Digestion

सेब के सिरके (Apple Cider Vinegar) में अल्कलाइंजिंग पाया जाता है।जो आपके पेट में अपच को दूर करने का काम करता है। एक कप पानी में एक चम्मच कच्चा और बिना फिल्टर किया हुआ सेब का सिरका को अच्छे से मिला दे। इसके बाद उसमें एक चम्मच कच्चा शहद को अच्छे से मिलाएं,उसके बाद दिन में 2-3 बार इसका सेवन करे। ऐसा करने से आपको लाभ अवश्य मिलेगा।

5. अपच का घरेलू उपाय बेकिंग सोडा (Baking Soda)

Baking Soda

अगर पेट में एसिड की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो इससे भी अपच की समस्या पैदा होती है। बेकिंग सोडा इस समस्या का रामबाण इलाज है। क्योकिं यह एंटासिड की तरह प्रभावशाली होता है। एख आधा ग्लास पानी में एक आधा चम्मच बेकिंग सोडा को अच्छे से मिलाएं,फिर उसके बाद इसे पी लें। ऐसा करने से आपको सूजन और एसिड दूर करने में मदद मिल सकती है।

अत: आप भी अगर पेट की समस्या से परेशान है।सारे विकल्प अपनाने के बाद भी कोई उपाय नजर नही आ रहा है, तो एक बार आप इस लेख को पढिंये और जो तरिका बताया गया है उसे अपनाइएं। क्योंकि यहां वह घरेलू नुस्खा बताया गया है जिसको आप असानी से इस्तेमाल में ला सकते है, और उसके लिए आपको ज्यादा खर्च करने की जरुरत भी नही पड़ती है। इसलिए अगर आप ऐसा करते है तो आपको इसका लाभ अवश्य मिलेगा।

Author name

Aditya Raj

Bio details

As a health and wellness writer, Aditya focuses on providing accurate information about nutritional supplements and their benefits. His fields of interest include football, field hockey, cooking,and mental health.