लड़का हो या लड़की खुबसूरती बनानें में बालों का ख़ास योगदान होता है| खूबसूरत और घने बाल खुबसूरती में चार चांद लगाती है। लेकिन आज के समय में बालों का झड़ना (Hair Fall Problem) एक समस्या बन गई है। ऐसा भी माना जाता है कि जीवन–शैली सही नही होने से भी बालों के झड़ने की समस्या होती है। बालों का झड़ना इतना बढ़ गया है कि यंग उम्र में भी लोग गंजेपन के शिकार हो रहे है। इससे बचने के लिए लोग तरह-तरह के केमिकलयुक्त प्रोडक्टस का इस्तेमाल कर रहें है। लेकिन उनके इस्तेमाल से बालों का झड़ना रुकने के बजाय और बढ़ ही जाता है। यह आनुवंशिकता, हार्मोनल परिवर्तन, चिकित्सा स्थितियों या उम्र बढ़ने के सामान्य हिस्से का परिणाम हो सकता है। किसी के भी सिर के बाल झड़ सकते हैं, लेकिन यह पुरुषों में अधिक आम है। यदि आप अपने खोए हुए बालों को फिर से उगाने की कोशिश कर रहे हैं या बस अपने बालों को सुधारना चाहते हैं, तो पहले आपको इसके कारणों को जानना होगा,जिससे आप सही समय रहते सही उपाय कर आपने बालों को झड़ने से रोक सकते है। 

बालों का झड़ना क्या है? (What is Hair fall?)

baalo ka jhadna kya hai

काले और घने बालों की चाहत हर व्यक्ति रखता है। असमय बालों का झड़ना किसी को भी अच्छा नही लगता है। क्योंकि इससे सीधा आपके खूबसूरती पर असर पड़ता है। एक अध्ययन में यह भी पाया गया है कि महिलाओं की अपेक्षा बालों का झड़ना पुरुष में ज्यादा पाया जाता है। बालों का झड़ना खोपड़ी पर बालों का पतला होना है। बालों के झड़ने के लिए मेडिकल में इसका शब्द खालित्य है। खालित्य अस्थायी या स्थायी हो सकता है। बालों के झड़ने का सबसे आम रूप धीरे-धीरे होता है और इसे "एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया" (Androgenetic Alopecia) कहा जाता है, जिसका अर्थ है कि स्थिति विकसित करने के लिए हार्मोन (एण्ड्रोजन पुरुष हार्मोन हैं) और आनुवंशिकता (आनुवंशिकी) के संयोजन की आवश्यकता होती है। अन्य प्रकार के बालों के झड़ने में एलोपेसिया एरीटा (गंजेपन के पैच जो आमतौर पर वापस बढ़ते हैं), टेलोजेन एफ्लुवियम (बच्चे के जन्म के बाद तेजी से बहना, बुखार, या अचानक वजन कम होना) शामिल हैं; और ट्रैक्शन एलोपेसिया (तंग ब्रैड्स या पोनीटेल से पतला होना)। बालों का झड़ना आमतौर पर पुरुषों और महिलाओं दोनों में उम्र के साथ धीरे-धीरे होता है, लेकिन आमतौर पर पुरुषों में अधिक स्पष्ट होता है। बालों के झड़ने की रोकथाम करने से पहले यह जानना बेहद जरुरी है कि आखिर इसका कारण क्या है?

कहीं यह बीमारी तो नही, आपके गिरते बालों की वजह

Hair Fall Reasons

जरुरी नही है कि अगर आपके बाल गिर रहें है तो उसकी वजह खान-पान, नियमित दिनचार्या या कुछ और है। ऐसा भी हो सकता है कि कोई बीमारी आपके शरीर में लंबे समय से चली आ रही हो,और आपने उसका समय रहते ख्याल न रखा हो। जिससे वह शरीर के साथ-साथ आपके बालों को भी नुकसान पहुंचा रहा हो,और आपको इसका अंदाजा न हो। ऐसा हम इसलिए कह रहे है कि कुछ ऐसी बीमारियां है जो लंबे समय तक आपके शरीर में है और आपने उसका उपचार नही कराया तो वह आपके बालों को नुकसान पहुंचाती है,और आपको इसका अंदाजा तक नही लगता है। इसलिए अगर आपके बाल जरुरत से ज्यादा प्रतिदिन गिरने लगे तो आप डॅाक्टर से सलाह जरुर ले। हालांकि हेयर विशेषज्ञ यह बताते है कि अगर किसी व्यक्ति के 70-100 बाल रोजाना अगर गिर रहे है तो इससे घबराने की जरुरत नही है। क्योंकि यह प्राकृतिक प्रक्रिया है।  जबतक पुराने बाल गिरेंगे नही तो नए बालों की संभावना पैदा नही हो सकती है। आइएं हम आपको ऐसी ही कुछ बीमारियों को बताने जा रहे है,जो आपके बालों को नुकसान पहुंचा सकती है।

1.डिप्रेशन (Depression)-

Depression

अब आप सोचते होंगे कि बालों के झड़ने का डिप्रेशन से क्या कनेक्शन है। आईएं हम आपको बताते है। डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी व्यक्ति को तुरंत अपने वश मे कर लेती है। हालांकि अगर कोई व्यक्ति डिप्रेशन में चला गया है उससे पहले वह तनाव से गुजरता है,और यही से उसके बालों का गिरना शुरु हो जाता है। अगर तनाव का स्तर इतना तेज है कि वह डिप्रेशन तक पहुंच जाता है, फिर अब इस स्थिति में बालों का गिरना और तेज हो जाता है।

2.ब्लड प्रेशर (Blood Pressure)-

Blood Pressure

अगर आपके बाल गिर रहें है तो उसमें रक्तचाप की भी भूमिका हो सकती है। क्योंकि अगर आपको रक्तचाप से समबंधित कोई परेशानी है तो आपके शरीर में रक्त का नियमित रुप से शरीर में संचार नही हो पाता है। जिससे ब्लड आर्टरीज पर रक्त संचार का बहुत अधिक दबाव रहता है। खून में सोडियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। यही वजह है कि बाल तेजी से गिरने लगते है।

3.कैंसर (Cancer)-

Cancer

अगर आपके शरीर में कैंसर ने घर बना लिया है। जैसे हॅाजकिंग और लिंफोमा कैंसर बालों के झड़ने के कारण हो सकते है। कीमोथेरेपी से जब कैंसर मरिज का उपचार किया जाता है,तो इलाज के दौरान मरिज का बाल तेजी से झड़ते है।

4.थायरॅाइड-(Thyroid)

Thyroid

यदि यह बीमारी आपके शरीर में लंबे समय से चली आ रही है तो यह आपके बालों के लिए काफी नुकसानदायक हो सकती है। क्योंकि इस बीमारी का शरीर में लंबे समय तक रह जाने से बाल बहुत तेजी से गिरने लगते है। अगर सही समय पर आप इसका इलाज नही कराते है तो आपके बाल तेजी से गिरते ही रहते है,बल्कि कई तरह की बीमारीयां भी पनप जाती है।

वह 5 मुख्य कारण जो आपके बालों को नुकसान पहुंचाते है (5 Main Reasons that Damage your Hair In Hindi)

1.रोज बालों को शैंपू से धोना (Wash hair Daily with Shampoo)

Wash hair Daily with Shampoo

ज्यादातर लोग अपने बालों को सिल्की और शाईन रखने के लिए प्रतिदिन बालों को शैम्पू से धोते है। लेकिन रोज बालों को शैम्पू से धोना भी आपके गिरते बालों का एक मुख्य कारण है। क्योंकि रोज शैम्पू करने से जो बालों मे आवश्यक तेल है वह हट जाता है,जो आपके बालों को नुकसान पहुंचाता है। इसलिए हप्ते में ज्यादा से ज्यादा 2-3 बार ही शैम्पू से अपने बालों को धोयें।

2.केमिकलयुक्त चीजों का बालों में इस्तेमाल करना (Using Chemicals on Hair)-

Using Chemicals on Hair

बालों को लंबा,घना, और चमकिला बनने के लिए लोग आज के समय से ज्यादातर केमिकलयुक्त चीजों का जैसे-केमिकल ,शैम्पू,साबून,हेयरकलर,हेयरजेल के साथ-साथ ड्रायर करने पर भी विशेष ध्यान दे रहे है,जो आपके बालों को काफी नुकसान पहुंचा रहा है।

3.पोषकयुक्त भोजन न करना (Not Eating Nutritious Food)

Not Eating Nutritious Food

आज के समय में लोग ज्यादातर चटपटी और मसालेदार पित्त वर्धक भोजन खाने पर ज्यादा जोर देते है। जो आपके बालों को तेजी से गिरने का कारण बनता है। क्योंकि चाय,काफी,और जंकफूड का सेवन करने से शरीर के अंदर पित्त बढ़ता है। जिससे शरीर को पोषकयुक्त भोजन नही मिल पाता है, जो बालों को नुकसान पहुंचाता है।

4.वजन का कम होना (Weight Loss)–

Weight Loss

हर कोई फीट और तंदुरुसत रहने के लिए आज के समय में अलग-अलग नुस्खें अपना रहा है। ताकि फीट और स्वस्थय दिख सके। कुछ लोग तो ऐसे है जो अपने डाइट को भी जरुरत से ज्यादा कम कर देते है। जिसेसे उचित कैलोरी और पोषकयुक्त भोजन उनके शरीर को नही मिल पाता है, जो बालों को झड़ने का कारण बनता है।

5. तौलियों से बालों को अनुचित तरीके से सुखाना (Improperly Drying Hair with Towels)-

Improperly Drying Hair with Towels

जब आप शॉवर से बाहर निकलते हैं, तो आपकी त्वचा और बालों पर एक तौलिया रगड़ना एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया है। हालांकि, यह रगड़ने की गति वास्तव में आपके बालों को तब नुकसान पहुंचाती है जब यह सबसे कमजोर (गीले होने के बाद) होता है। अपने बालों से पानी निकालने के बजाय, अपने बालों के चारों ओर एक शोषक तौलिये को पोंछ लें। आप अतिरिक्त पानी को सोखने के लिए अस्थायी उपाय के रूप में अपने बालों में एक तौलिया भी छोड़ सकते हैं।

बाल झड़ने से कैसे रोकें (Baal Jhadne se Kaise Rokein)-

Baal Jhadne se Kaise Rokein

अभी तक आपने यह समझा और पढ़ा की गिरते बालों का आखिर वजह क्या है,और किस-किस वजह से आपके बाल गिरते है। लेकिन उससे भी ज्यादा जरुरी यह है कि आखिर गिरते बालों को रोका कैसे जाए? क्या कोई ऐसा घरेलू नुस्खा है जो आपके बालों को गिरने से रोके और मजबूती प्रदान करे? जिससे आपको भी समाज में शर्मिंदगी का सामना न करना पड़े। क्योंकि गिरते बाल इंसान के लुक को भी प्रभावित करती है। तो आईएं हम आपको बतातें है वह घरेलू उपाय जो काफी हद तक आपके गिरते बालों को रोक सकते है और इसके लिए आपको ज्यादा खर्चें की भी जरुरत नही है।

1. आवंला का इस्तेमाल (Use Amla)-

Use Amla

यह वह घरेलू नुस्खां है जिसके उपयोग से आप अपने गिरते बालों को रोक सकते है। आसानी से यह बाजार में भी उपलब्ध है। इसकी कीमत भी कुछ ज्यादा नही है। बालों की गिरने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आवंला बेहद ही कारगर साबित होता है। आवंला में विटामिन C एंटी आक्सिडेंटस की मात्रा भरपूर होती है। अगर इसका इस्तेमाल रोजाना किया जाए तो लाभ मिलता है|

2. मेथी का इस्तेमाल (Use Fenugreek)-

Use Fenugreek

मेथी का इस्तेमाल भी फायदेमंद होता है। क्योंकि मेथी के बीज में हार्मोन अंटेसीडेंट पाया जाता है। जिसके द्वारा बालों का विकास और दोबारा उगाने में मदद मिलती है। इस प्रकार अगर आप मेंथी का भी इस्तेमाल रोजाना करते है तो लाभकारी होगा।

3. एलोवेरा का इस्तेमाल (Use Aloevera)-

Use Aloevera

अगर आप गिरते बालों को रोकना चाहते हैं तो एलोवेरा का भी इस्तेमाल आपको फायदा पहुंचा सकता है। एलोवेरा में एंज़ाइम होते है। जो बालों के सीधे विकास में सहायक होते है। एल्कलाइन गुण के कारण ये बालों के पीएच को एक सही स्तर पर लाने में मदद कर सकते हैं और बाल विकास को बढ़ावा दे सकते हैं।

4. हिना का इस्तेमाल (Use Henna)-

Use Henna

भारत में हिना का उपयोग बालों की समस्या से निपटने के लिए बहुत पहले से ही लड़कियों द्वारा किया जा रहा है। बालों को मजबूत बनाएं रखने के लिए भी हिना स्कैल्प काफी प्रभावशाली होता है। हिना के साथ मेथी भिगोकर लगाने से बालों का झड़ना बहुत कम समय में घट जाता है| हिना में अंडे, दही जैसे हाइड्रेटिंग इन्ग्रीडिएंट्स मिलाने पर यह बालों को नमी प्रदान करती है| यदि आप हिना का प्रयोग केवल बालों को कंडिशन करने के लिए कर रहे हैं तो हिना पैक को कम से कम समय के लिए लगाएं|

5. जपाकुसुम का इस्तेमाल (Use Japakusum)-

Use Japakusum

अब आप सोचते होगें की बालों को गिरने से रोकने के लिए जपाकुसुम का क्या इस्तेमाल हो सकता है। जपासुकुन का इस्तेमाल है जरा अपने ध्यान को केरल की तरफ ले जाईएं। आपने देखा या सुना होगा कि केरल मे महिलाओं के बाल काफी लम्बे और घने होते है। जो हमेशा चर्चा का विषय बना रहता रहता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि केरल में महिलाएं नारियल और जपाकुसुम का इस्तेमाल नियमित रुप से करती है। जपाकुसुम और नारियल का इस्तेमाल बालों को पौष्टकता प्रदान करता है। साथ ही साथ रुसी से भी निजात दिलाने में सहायक होता है। अत:आप भी इसका सेवन करके बालों के गिरने से राहत पा सकते है।

6. शिकाकाई का उपयोंग (Use Shikakai)-

Use Shikakai

शिकाकाई एक आयुर्वेदिक औषधीय पेड़ है। भारत के उपमहाद्वीप में इसका उपयोग बालों की देखभाल के लिए पुराने समय से किया जा रहा है। इसको तेल शैम्पू की तरह बालों में उपयोंग किया जाता है। आवंला और रीठा के साथ भी शिकाकाई का इस्तेमाल किया जाता है। महिलाएं नहाते समय बालों को पोषण देने के लिए शिकाकाई को इस्तेमाल करती थीं जो एक बेहतरीन कंडीशनर है। इसे पेस्ट की तरह बालों में लगाया जाता था और बाद में गुनगुने पानी से धो लिया जाता है। नतीजा ये होता था कि बाल नर्म और मुलायम हो जाते थे। अत: आप भी इसका सेवन करके बालों के गिरने से राहत पा सकते है।

इस प्रकार इस ब्लॉग के माध्यम से आपने यह जाना कि बाल झड़ने के कारण क्या-क्या हो सकते है। साथ ही उसके बचाने के लिए क्या उपाय करना चाहिए (Baal Jhadna Kaise Roke)|अगर आप इस घरेलू विधि को अपनाते है तो आपको निश्चित तौर पर इसका लाभ मिलेगा,साथ ही आप गिरते बालों की समस्यां से भी छुटकारा पा सकते हैं।

Author name

Aditya Raj

Bio details

As a health and wellness writer, Aditya focuses on providing accurate information about nutritional supplements and their benefits. His fields of interest include football, field hockey, cooking,and mental health.