अदरक पत्तेदार तनों और पीले हरें रंग के फूलों वाला पौधा है। जैसा की आप जानते है कि इसका मसाला इसके जड़ो से आता है। इतना ही नही अदरक एशिया के गर्म भागों जैसे चीन, जापान और भारत का मूल निवासी है। लेकिन अब दक्षिण अमेरिकी और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में उगाया जाता है। अबतो यह मध्य पूर्व में दवा के रूप में और भोजन के साथ उपयोग करने के लिए भी उगाया जाता है।

मुख्य रुप से इसका उपयोग कई तरह की मतली और उल्टी के लिए किया जाता है। इसका उपयोग मासिक धर्म में ऐंठन, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस, मधुमेह, माइग्रेन के सिरदर्द और अन्य स्थितियों के लिए भी किया जाता है। लेकिन इनमें से कई उपयोगों का समर्थन करने के लिए कोई अच्छा वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। अदरक में मौजूद रसायनों में से एक का उपयोग रेचक, गैस-रोधी और एंटासिड दवाओं में एक घटक के रूप में भी किया जाता है। वहीं इस बात का भी ध्यान रखना बेहद जरुरी है कि अदरक का उपयोग केवल घरेलू उपचार के तौर पर किया जा सकता है। इसे बताई जाने वाली समस्याओं का इलाज न समझा जाए। किसी भी बीमारी का इलाज डॉक्टरी सलाह पर ही निर्भर करता है।

अदरक क्या है? (Adrak kya hai?)

Ginger kya hai

अदरक का वैज्ञानिक नाम ज़िंगिबर ऑफ़िसिनेल है।  जिसके बारे में माना जाता है कि यह मसाले के संस्कृत नाम से आया है। पत्तेदार पौधा लगभग 3 फीट लंबा होता है, और हरे-बैंगनी फूलों के गुच्छों का उत्पादन करता है। अदरक की जड़ या प्रकंद वह भाग है, जिसका उपयोग मसाले या उपचार सहायता के रूप में किया जाता है। विविधता के आधार पर जड़ के अंदर का भाग पीला  लाल या सफेद हो सकता है। इसे पूरे पौधे को मिट्टी से खींचकर पत्तियों को हटाकर और जड़ को साफ करके काटा जाता है। अदरक को ताजा खाया जा सकता है। सुखाया जा सकता है और मसाले के रूप में संग्रहीत किया जा सकता है। इसके अलावा गोलियों कैप्सूल और तरल अर्क में भी बनाया जा सकता है। इसके जड़ में लगभग 2 प्रतिशत आवश्यक तेल होता है। जिसका उपयोग कॉस्मेटिक उद्योग में साबुन में सुगंध के रूप में किया जाता है।

अदरक के 10 जबरदस्त फायदें (Adrak ke Fayde)

1. ब्लड सुगर को नियंत्रित करने में फायदेंमंद

control blood sugar

अदरक का सुझाव देने वाले कुछ सबूत भी हैं जो लोगों में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं । एक शोध के अध्ययन में ब्लड सुगर वाले लोगों पर अदरक के प्रभावों का परीक्षण किया गया। जिसमें पाया गया कि प्रतिदिन 2 ग्राम अदरक पाउडर लेने से रक्त शर्करा संकेतों में सुधार हुआ है। इसके अलावा 2018 के एक अन्य शोध में पाया गया कि अदरक के कैप्सूल लेने से गर्भावधि मधुमेह वाली महिलाओं में रक्त शर्करा का स्तर कम हो जाता है।

2. सूजन को कम करने में फायदेंमंद

reduce inflammation

सूजन एक समस्या है, जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। कुछ लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं। जिसकी वजह से उन्हें अक्सर परेशानी का भी सामना करना पड़ता है। हालांकि सूजन कुछ समय के बाद स्वयं ही ठीक हो जाती है।लेकिन जब यह लंबे समय तक रह जाती है, तो यह चिंता का विषय बन जाती है। इसके अलावा आमतौर पर आपके शरीर की मरम्मत के बाद सूजन दूर हो जाती है। लेकिन  जब आप ऑक्सीडेटिव तनाव का अनुभव कर रहे होते हैं। तो यह पुरानी सूजन पैदा कर सकता है। यह आपके शरीर को स्वस्थ कोशिकाओं ऊतकों और अंगों को नुकसान पहुंचाता है। पुरानी सूजन से दिल का दौरा या गठिया जैसे पुराने दर्द जैसी बीमारियां हो सकती हैं। इसके अलावा  घुटने में पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के रोगियों में 2001 में किए गए एक बड़े शोध में पाया गया कि छह सप्ताह तक रोजाना दो बार अदरक का अर्क लेने वाले लोगों में 63 प्रतिशत लोगो  के घुटने के दर्द को कम किया गया।

3. मासिक धर्म में अदरक के फायदे

Benefits of ginger in menstruation

अदरक मासिक धर्म में होने वाली दर्द से राहत दिलाने में सहायक होता है। अदरक उन रसायनों के उत्पादन को रोकता है जो आपके गर्भाशय को सिकुड़ते हैं। जिससे दर्द होता है। एक शोध में वैज्ञानिकों ने मासिक धर्म के दर्द पर अदरक के प्रभावों को देखते हुए पिछले शोध की समीक्षा की और निष्कर्ष निकाला कि 750 से 2000 मिलीग्राम अदरक पाउडर मासिक धर्म चक्र के पहले तीन से चार दिनों के दौरान दर्द को दूर करने में मदद कर सकता है।

4. बालों के लिए फायदेंमंद

beneficial for hair

बालों का झड़ना चिंता का विषय होता है। मजबूत और घने बाल की चाह हर किसी की होती है। लेकिन कई बार हमारे बाल लगातार झड़ते हैं। ऐसे में यह चिंता का विषय हो जाता है। क्योंकि रोजाना बाल झड़ने से हम गंजेपन के भी शिकार हो सकते हैं। अदरक में एंटीमाइक्रोबियल (सूक्ष्म बैक्टीरिया को नष्ट करने वाला) गुण पाया जाता है। वहीं विशेषज्ञों के मुताबिक बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण भी बाल झड़ने की समस्या देखी जा सकती है । ऐसे में अगर कोई बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण बाल झड़ने की समस्या से परेशान है। तो यह अदरक के गुण मददगार साबित हो सकते हैं।

5. अपच के इलाज में लाभकारी

Beneficial in the treatment of indigestion

अदरक शरीर के माध्यम से भोजन को अधिक तेज़ी से ले जाने के लिए जिम्मेदार पाचन एंजाइमों को उत्तेजित करता है। जो गैस को रोकता है। शरीर को गैस को तोड़ने और गैस से अधिक प्रभावी ढंग से छुटकारा पाने में मदद करता है, इसे एंकेवे कहते हैं। एक छोटे से शोध में स्वस्थ लोगों पर अदरक के प्रभावों का परीक्षण किया गया। शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि तीन 1,200 मिलीग्राम अदरक कैप्सूल लेने से गैस्ट्रिक खाली हो गया वह प्रक्रिया जहां भोजन पेट से निकलकर छोटी आंत में प्रवेश करता है और अधिक एंट्रल संकुचन को प्रोत्साहित करता है,। जो भोजन को तोड़ने और पचाने के लिए आवश्यक हैं।

6. वजन घटाने में मददगार

helpful in weight loss

आपका वजन एक संतुलनकारी कार्य है, और कैलोरी उस समीकरण का हिस्सा हैं। आपके द्वारा ली गई कैलोरी से अधिक कैलोरी जलाने के लिए वज़न कम होता है। आप भोजन और पेय पदार्थों से अतिरिक्त कैलोरी को कम करके और शारीरिक गतिविधि के माध्यम से जली हुई कैलोरी को बढ़ाकर ऐसा कर सकते हैं। हालांकि यह आसान लगता है। एक व्यावहारिक  प्रभावी और टिकाऊ वजन घटाने की योजना को लागू करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। एक शोध में यह पता चला की अदरक वजन घटाने में मददगार हो सकता है। मोटापे से ग्रस्त 80 महिलाओं के  एक शोध में पाया गया कि अदरक बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और रक्त इंसुलिन के स्तर को कम करने में भी मदद कर सकता है। क्योकि उच्च रक्त इंसुलिन का स्तर मोटापे से जुड़ा हुआ है। इसके अलावा अगर आप अदरक के पानी या अदरक के अर्क का सेवन करने वाले के शरीर में वजन की लगातार कमी देखी गई है। इस प्रकार आप इसके इस्तेमाल से लाभ पा सकते है।

7. पुरानी अपच के इलाज में मददगार

Helpful in treating chronic indigestion

पुरानी अपच की विशेषता पेट के ऊपरी हिस्से में बार-बार होने वाले दर्द और परेशानी से होती है। यह माना जाता है कि देर से पेट खाली होना अपच का एक प्रमुख कारण है। दिलचस्प बात यह है कि अदरक को पेट खाली करने में तेजी लाने के लिए दिखाया गया है। कार्यात्मक अपच वाले लोग जो बिना किसी ज्ञात कारण के अपच है, उन्हें एक छोटे से शोध में अदरक कैप्सूल या प्लेसीबो दिया गया था। एक घंटे बाद  उन सभी को सूप दिया गया,जिन लोगों ने  अदरक का सेवन किया पेट खाली होने में 12.3 मिनट का समय लगा। प्लेसीबो  प्राप्त करने वालों में इसे 16.1 मिनट का समय लगा।

8. कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मददगार

Helpful in reducing cholesterol level

कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर हृदय रोग के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है। क्योकिं आपके द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ एलडीएल के स्तर पर एक मजबूत प्रभाव डाल सकते हैं। हाइपरलिपिडिमिया वाले 60 लोगों के एक अध्ययन में जिन 30 लोगों को हर दिन 5 ग्राम अदरक का पाउडर मिला, उनके एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 3 महीने की अवधि (28) में 17.4% की गिरावट देखी गई। इस प्रकार अगर आप इस्तेमाल करते है द लाभकारी हो सकता है।

9. हृदय को स्वास्थ्य बनाए रखने में लाभकारी

Beneficial in maintaining heart health

हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए भी अदरक का सेवन किया जा सकता है। दरअसल विशेषज्ञों के मुताबिक अदरक के औषधीय गुण कई हैं। इनमें सूजन, मुक्त कणों का प्रभाव खून जमने की प्रक्रिया  बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर और लिपिड को नियंत्रित करने की क्षमता शामिल है। यह सभी प्रभाव संयुक्त रूप से हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित कर उसे स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद कर सकते हैं  इस आधार पर यह माना जा सकता है कि अदरक का सेवन कर हृदय स्वास्थ्य को बरकरार रखने में मदद मिल सकती है।

10. गठियां के दर्द को कम करने में फायदेंमंद

Beneficial in reducing arthritis pain

गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए, गर्म अदरक के पेस्ट को हल्दी के साथ एक दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इसके अलावा  अपने आहार में कच्चे या पके हुए अदरक को शामिल करें। दर्द कर रही मांसपेशियों और जोड़ों को शांत करने के लिए आप अपने स्नान के पानी में अदरक के तेल की कुछ बूंदों भी मिला सकते हैं।

इस ब्लॉग के माध्यम से हमने आपको अदरक के फायदे और नुकसान उसके निदान के बारे में बताया है। अगर आप इस लेख को पढ़कर इसका उपयोग करते है तो  आपके लिए भी यह लाभकारी होगा। उम्मीद है यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

Author name

Sanjana Baruah

Bio details

Sanjana is proficient in genres including health & wellness, sports, and lifestyle. Being a young athlete, she also has 3+ years of writing experience in Sports, Health and Wellness.Her field of interest includes reading, running, and badminton.